Uttarakhand Free Coaching Scheme for SC / ST in hindi 2019-20

उत्तराखंड फ्री कोचिंग योजना एससी/एसटी छात्र  2019-20 (Uttarakhand Free Coaching Scheme for Poor SC / ST Students in hindi[आवेदन पत्र, फॉर्म, पंजीकरण] (Eligibility Criteria, Application Form, Last date, Result)

 उत्तराखंड सरकार ने एससी/ एसटी श्रेणी के छात्रों के लिए फ्री-कोचिंग स्कीम शुरू की है. उत्तराखंड फ्री एससी एसटी कोचिंग योजना आईएएस, पीसीएस औस्टेट लेवल के प्रतियोगी परीक्षा के लिए छात्रों को फ्री ट्रेनिंग उपलब्ध करवा रही हैं, जिसमे पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर 300 छात्रों को 5 महिनों की अवधि के लिए फ्री कोचिंग स्कीम के लिए चुना जायेगा.

free coaching in uttarakhand

योजना का नाम गरीब एससी/एसटी छात्रों के लिए उत्तराखंड फ्री कोचिंग स्कीम
कब होगी घोषणा जून 2019
कहां पर हैं योजना? उतराखंड
किनके लिए हैं योजना गरीब एससी/एसटी छात्रों के लिए
योजना में कुल बजट 75 लाख रूपये
संबंधित विभाग समाज कल्याण विभाग

 

उत्तराखंड फ्री एससी/एसटी कोचिंग स्कीम 2019 की विशेषताएं (Uttarakhand Free SC / ST Coaching Scheme 2019- Special features)

उत्तराखंड फ्री एससी/एसटी कोचिंग स्कीम 2019 की मुख्य विशेषताएं निम्न हैं:-

  • कुल संसथान (Total Institutions) :- सोशल वेलफेयर डिपार्टमेंट के डायरेक्टर विनोद गोस्वामी के अनुसार अभ्यर्थी आईएएस, पीसीएस और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करेंगे, इसके लिए हल्द्वानी, हरिद्वार, देहरादून, उधमसिंह नगर जैसे अन्य जिलों के 11 इंस्टिट्यूट से प्रार्थना पत्र मंगवाए जायेंगे.
  • योजना के लिए प्रस्तावित राशि (Proposed amount for Scheme) :- ये प्रस्ताव सरकार को भेजा जा चूका है, इसके लिए जून के महीने में आधिकारिक घोषणा होगी. इस बार कोचिंग के लिए राशि शैक्षिक संस्था (इंस्टिट्यूट) को दी जायेगी. इस योजना के लिए सरकार को पांच महीने के कार्यकाल में 75 लाख रूपये खर्च करने होंगे.
  • कोचिंग देने वाली संस्थानों का चयन (Selection of the Coaching institutes) :- सोशल वेलफेयर डिपार्टमेंट के एडिशनल सेक्रेटरी रामविलास यादव ने कहा हैं कि फ्री कोचिंग उपलब्ध करवाने वाली शैक्षिक संस्थाओं का चयन हो चूका हैं, इसके लिए जून में विज्ञापन निकाला जायेगा और अभ्यर्थियों को जुलाई में चुना जायेगा.
  • पाठ्यक्रमों का चयन (Selection of Syllabus) :- गरीब एससी/एसटी छात्रों के लिए उत्तराखंड फ्री कोचिंग स्कीम के लिए शैक्षिक संस्थाओं के चयन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी हैं. उत्तराखंड के फ्री-कोचिंग स्कीम के अंतर्गत छात्रों को आईएएस, पीसीएस और अन्य स्टेट लेवल की प्रतियोगी परीक्षा देनी होगी. एससी/एसटी कोचिंग स्कीम ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म मुफ्त नही होंगे, इसलिए योजना के अंतर्गत ट्रेनिंग प्रोग्राम को समझना जरुरी हैं.
  • कोचिंग में भुगतान (Coaching Fees) :- इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार लाभार्थियों को मुफ्त में कोचिंग देने के लिए कोचिंग सेंटर्स को कुछ निश्चित राशि तक का भुगतान करेगी.

योग्यता (Eligibility Criteria)

  • जाति पात्रता:- योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी का उत्तराखंड का निवासी होना अनिवार्य हैं एवं जाति आधारित योजना होने के कारण ये आवश्यक हैं कि लाभार्थी एससी या एसटी का छात्र हो.
  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के पास उत्तराखंड का मूल निवासी पत्र होना अनिवार्य है. दुसरे प्रदेश के लोग इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते.

एससी/एसटी छात्रों का फ्री कोचिंग स्कीम उतराखंड के लिए चयन (SC / ST Students Selection in Free Coaching Scheme Uttarakhand)

वो सभी छात्र जो आईएएस, पीसीएस और स्टेट लेवल की प्रतियोगी परीक्षा के लिए बेस्ट टीचर से फ्री कोचिंग लेना चाहते हैं वो उतराखंड में फ्री एससी/ एसटी कोचिंग स्कीम में एप्लाई कर सकते हैं. राज्य सरकार इस फ्री ट्रेनिंग के लिए कोई आवेदन पत्र उपलब्ध नहीं करवाएगी मतलब इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थी को कोई आवेदन नहीं करना होगा बल्कि इसमें छात्रों का चयन “पहले आओ पहले पाओ (फर्स्ट कम फर्स्ट सर्व-एफसीएफएस) के आधार पर होगा. राज्य सरकार 300 छात्रों को बेस्ट-इन-क्लास ट्रेनिंग देगी और कोचिंग का समय 5 महीने का होगा.

सरकार ने ये घोषणा 3 वर्ष पहले शुरू की थी लेकिन उस समय किसी भी अभ्यर्थी ने आईएस या पीसीएस एग्जाम पास नहीं किया था. राज्य सरकार पर तब अच्छे इंस्टीट्यूट का चयन न करने एवं भ्रष्टाचार के आरोप भी थे, इसलिए सरकार ने योजना बंद कर दी थी. अब सरकार ने योजना को नए तरीके से शुरू किया हैं.

अनुसूचित जाति और जनजाति को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में समृद्ध बनाने के लिए उतराखंड की ये योजना सराहनीय हैं, इससे ना केवल इन छात्रों को पढ़ाई में मदद मिलेगी बल्कि पूरे वर्ग को एक सही दिशा भी मिलेगी.

Other links –

About Editor