प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2020

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2020 पीएम मोदी जी ने ऐलान किया स्वामित्व योजना, गाँव की प्रॉपर्टी की मैपिंग करके, मालिकाना प्रमाणपत्र बांटा जायेगा (Pradhan Mantri Swamitva Yojana in Hindi, Mapping, Certificate, Application Form Online, Bank loan)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंचायती राज दिवस के उपलक्ष में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ग्रामीण लोगों के साथ इस दिवस को मनाया। इस दिन प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की घोषणा की । गांव में संपत्ति को लेकर काफी वाद विवाद होते हैं, उस तरह की समस्या के निदान हेतु पीएम स्वामित्व योजना शुरू की जाने वाली है । इस योजना का संचालन ऑनलाइन तरीके से किया जाएगा । योजना किस तरह से कार्य करेगी इस बारे में किस आर्टिकल में संपूर्ण जानकारी दी गई है –

Pradhan-Mantri-Swamitva-Yojana

नामप्रधानमंत्री स्वामित्व योजना
दिन24 अप्रैल, 2020
किसने शुरू कीप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
लाभार्थीग्रामीण जिनकी भूमि विवादित हैं
लाभभूमि सत्यापन एवं सीमांकन
संबंधित विभागपंचायती राज मंत्रालय

क्यों शुरू की जा रही है प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना

गांव की जनता के पास उनकी भूमि संबंधी कागजात की कमी पाई गई है जिसकी वजह से वहां पर अक्सर ही विवाद होता रहा है । इस समस्या के समाधान के लिए स्वामित्व योजना को शुरू किया जा रहा है । इस योजना के अंतर्गत एक ऑनलाइन वेबसाइट लांच की जाएगी जिसमें ग्रामीण व्यक्ति अपनी भूमि का पूरा ब्यौरा देगा जिसकी जांच पड़ताल विभाग द्वारा की जाएगी और चल रहे विवाद को पूरी तरह से खत्म किया जाएगा । योजना के उचित संचालन हेतु एक सिंगल इंटरफस शुरू किया जाएगा जिसे लोग एवं विभाग दोनों इस्तेमाल कर सके ।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना से जुड़े लाभ क्या है

भारत सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की लोन सुविधा शुरू की गई है परंतु ग्रामीण लोग इन जमीनी विवादों के कारण इन सुविधाओं का लाभ नहीं ले पाते, जैसे ही इन विवादों का निपटारा होगा।  वह लोन ले सकेंगे जैसे कि पीएम आवास योजना का लाभ ले पाएंगे एवं अन्य प्रकार के बैंक लोन भी ले सकेंगे ।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना किस तरह से कार्य करेगी

  1. फिलहाल यह योजना एक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू की गई है, सबसे पहले यह योजना उत्तराखंड, राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र एवं कर्नाटक में शुरू की जाएगी ।
  2. योजना के अंतर्गत टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाएगा जिन भूमि पर विवाद चल रहा है, उनकी मैपिंग नए सर्वे मेथड के अनुरूप की जाएगी । साथ ही इसके लिए ड्रोन कैमरे का इस्तेमाल भी होगा और सभी तरह के महत्वपूर्ण बिंदुओं की जांच पड़ताल की जाएगी
  3. योजना के अंतर्गत पंचायती राज मंत्रालय, राज्य पंचायती राज विभाग, राज्य राजस्व विभाग एवं भारतीय सर्वेक्षण विभाग आदि द्वारा भाग लिया जाएगा ।

निम्न प्रकार के एक्शन लिए जाएंगे

  1. भूमि का सत्यापन किया जाएगा
  2. भूमि का उचित नामांकन किया जाएगा
  3. ड्रोन का इस्तेमाल कर भूमि की स्थिति देखि जाएगी
  4. रिहायशी इलाकों की भूमि का सीमांकन होगा

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

  1. प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट केंद्र सरकार द्वारा जल्द ही शुरू की जाने वाली है। ग्रामीण परिवेश के लोग इस आधिकारिक वेबसाइट के जरिए अपना आवेदन भर सकते हैं इसके लिए उन्हें इस अधिकारी वेबसाइट को विजिट करना होगा ।
  2. वेबसाइट के होम पेज पर न्यू रजिस्ट्रेशन एक हाइपरलिंक मौजूद है जिस पर क्लिक करके आवेदन कर्ता अपना फॉर्म देख सकते हैं ।
  3. इस फॉर्म में आवेदन कर्ता को अपनी निजी जानकारी के साथ-साथ संपत्ति का ब्यौरा भी सही तरह से भरना होगा ।
  4. इसके साथ ही आवेदन कर्ता को अपने दस्तावेज स्कैन करके उसकी सॉफ्ट कॉपी भी आवेदन के साथ जोड़नी होगी। यह वे सभी दस्तावेज होंगे जो कि आपके जमीन एवं आपके संबंधी सत्यापन में काम आएंगे ।
  5. आवेदन भरने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद आप अपने आवेदन की प्रिंट कॉपी अपने साथ रख सकते हैं एवं आवेदन क्रमांक को भी नोट कर सकते हैं ।
  6. आवेदन करने के बाद विभाग द्वारा इसका सत्यापन किया जाएगा जिसकी जानकारी मोबाइल पर एसएमएस के जरिए भेज दी जाएगी इसीलिए अपना मोबाइल नंबर सही तरह से जरूर भरे।

ग्रामीण लोगों के विकास के लिए केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार के कदम उठाए जा रहे हैं, यह प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना बहुत ही आवश्यक योजना थी क्योंकि ग्रामीण स्तर पर भूमि का विवाद बहुत सालों तक चलता रहता है और जिसका कोई हल नहीं निकलता और इस वजह से भूमि मालिकों को भूमि का लाभ भी प्राप्त नहीं हो पाता इसलिए यह एक बहुत ही अच्छी योजना साबित होगी ।

अन्य पढ़े

  1. YSR Adarsham Scheme
  2. PM Kisan Mandhan Pension Yojana 
  3. YSR Sports Incentive Scheme 
  4. Kanyashree Scheme in West Bengal 

About Editor