छपाक फिल्म का असर – एसिड हमले से पीढित महिलाओं को अब उत्तराखंड सरकार की ओर से मिलेगी पेंशन

एसिड हमले से पीढित महिलाओं को अब उत्तराखंड सरकार की ओर से मिलेगी पेंशन (Pension Scheme for Acid Attack Survivors in Uttarakhand) 2020

हालही में रिलीज़ हुई फिल्म छपाक के बारे में आप सभी अभी सुन रहे होंगे. इस फिल्म को न सिर्फ पसंद किया जा रहा है बल्कि इस फिल्म ने लोगों में सकारात्मक प्रभाव भी डाला है, और इसका एक उदाहरण उत्तराखंड में देखा जा सकता है. जी हां उत्तराखंड राज्य सरकार ने ऐसी महिलाएं जोकि एसिड अटैक से पीढित हैं उनकी मदद करने के लिए एक पेंशन योजना की शुरुआत करने का फैसला ले लिया हैं, जिसकी घोषणा राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या द्वारा कर दी गई है.

Pension Scheme for Acid Attack Survivors in Uttarakhand

इस योजना के तहत राज्य सरकार ने यह फैसला लिया हैं कि वे राज्य के अंदर जितनी भी एसिड अटैक से पीढित महिलायें हैं उन्हें प्रतिमाह 5 हजार से लेकर 6 हजार रूपये तक की राशि प्रदान करेंगे, ताकि वे शान एवं सम्मान के साथ अपना जीवन व्यतीत कर सकें.

अब तक उत्तराखंड राज्य में एसिड अटैक से पीढित 11 महिलाओं के नाम सामने आये हैं उन्हें जल्द ही इस योजना को लागू कर पेंशन प्रदान की जा सकती हैं.

राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या जी द्वारा इस योजना की घोषणा कर इसे आगे बढ़ाने के लिए कैबिनेट में प्रस्ताव रखने की बात कहीं गई है.

उनका यह भी कहना हैं कि इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यह है कि इस तरह की लड़ाई लड़ने वाली बहादुर महिलाओं को उनके सपनों को पूरा करने में सहायता प्राप्त हो. और वे औरों की तरह ही अपना करियर बेहतर बना सकें.

दरअसल इस फिल्म में एसिड हमले से पीढित एक महिला जिसका नाम लक्ष्मी अग्रवाल था की सच्ची घटना की कहानी बताई गई कि किस तरह से उस पर अटैक हुआ था और उसे किस तरह न्याय प्राप्त हुआ एवं वह अपने जीवन में आगे बढ़ी. अभिनेत्री दीपिका पादुकोण द्वारा अभिनीत इस फिल्म के प्रति दर्शकों की जबर्दस्त एवं सकारात्मक प्रतिक्रिया हैं. इसे आलोचकों एवं लोगों द्वारा समान रूप से पसंद किया जा रहा है.

हालाँकि इस फिल्म के रिलीज़ से पहले दिल्ली के जेएनयू में हुई हिंसा के बाद दीपिका पादुकोण उनका समर्थन करने के लिए पहुंची और उन्होंने सरकार के फैसले का विरोध भी किया. जिसके चलते इस फिल्म को बॉयकॉट करने की बात भी कहीं गई थी. लेकिन इन सभी विवादों के बाद भी यह फिल्म काफी पसंद की जा रही हैं.

यह फिल्म के बाद अब इस योजना को कब से लागू किया जायेगा, इस बात की पुष्टि अभी उत्तराखंड राज्य सरकार एवं संबंधित मंत्रालय द्वारा नहीं की गई हैं. लेकिन उम्मीद हैं कि इस साल इस योजना को शुरू किया जा सकता है.

जैसे ही इस योजना की शुरुआत की जाएगी और इसके बारे में जानकारी दी जाएगी, हम आप तक इसे पहुँचाने के लिए पूरी कोशिश करेंगे.

Other links –

About Editor