Jun 082019
 

कन्या सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश 2019 – 20 ऑनलाइन फॉर्म पीडीएफ़ डाउनलोड, पात्रता, वैबसाइट,टोलफ्री हेल्पलाइन नंबर (Kanya Sumangala Yojana UP in Hindi), [Eligibility Criteria, Application Form, How to apply, Portal]

अक्सर देखा जाता है कि बेटियों का जन्म होते ही माता – पिता को कोई ख़ुशी नहीं होती. क्योंकि उनका मानना होता है कि बेटियां केवल उनके लिए बोझ होती हैं. किन्तु आज के समय में सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनायें के चलते लोगों को उनकी इस सोच को बदलने के लिए प्रेरित किया जा रहा है. सरकार द्वारा कुछ योजनायें बेटियों की सहायता के लिए शुरू की गई है. उन्हीं में से एक योजना उत्तरप्रदेश सरकार ने भी शुरू की है. जिसके तहत यूपी सरकार अपने राज्य की सभी बेटियों का जन्म से ही सम्मान करने के लिए एवं उनकी उच्च शिक्षा तक उनकी आर्थिक मदद करने के लिए शुरू की गई, ताकि कोई भी माता – पिता अपनी बेटियों को बोझ न समझें और अपनी बेटियों को पढ़ायें. आइये इस योजना के बारे में विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं.

Kanya Sumangala Yojana UP

क्र. म.योजना की जानकारी बिंदुयोजना की जानकारी
1.योजना का नामकन्या सुमंगला योजना उत्तरप्रदेश
2.योजना का लांच फरवरी 2019 को उत्तर प्रदेश के बजट 2019 – 20 के दौरान
3.योजना की घोषणाउत्तरप्रदेश की योगी सरकार द्वारा
4.योजना की शुरुआतअप्रैल 2019 से
5.संबंधित विभागबाल एवं महिला कल्याण विभाग
6.कुल बजट1,200 करोड़ रूपये
7.योजना के लाभार्थीउत्तरप्रदेश की 1 अप्रैल के बाद जन्म लेने वाली बेटियां
8वेबसाइटmahilakalyan.up.nic.in

कन्या सुमंगला योजना क्या है ?

  • भ्रूणहत्या एवं बाल विवाह जैसे अपराध में कमी :- इस तरह की योजना के आने से उत्तरप्रदेश में कन्या भ्रूणहत्या एवं बाल विवाह जैसे अपराध खत्म हो सकेंगे. क्योंकि इस योजना के माध्यम से बेटियों को जन्म लेते ही आर्थिक सहायता दी जाएगी, जिससे बेटियों के जन्म के बाद उनके माता – पिता द्वारा उन्हें बोझ नहीं समझा जायेगा. और इस तरह के अपराध भी नहीं हो पाएंगे.
  • लड़के एवं लड़कियों के बीच के भेदभाव में कमी :- इस योजना के कारण जो लोग लड़के एवं लड़कियों के बीच भेदभाव करते हैं यानि उन्हें लड़कियों से बेहतर समझते हैं, तो ऐसे लोगों की सोच भी बदलेगी. और लड़के एवं लड़कियों दोनों में समानता आएगी.
  • बेटियों का विकास :- इस योजना के अंतर्गत बेटियों को उनकी शिक्षा पूरी करने के लिए सहायता दी जाएगी. जिससे वे पढ़ लिख कर खुद को इस काबिल बना सकती हैं कि उन्हें किसी पर निर्भर होने की जरुरत नहीं होगी. वे स्वयं ही आत्मनिर्भर बन सकेंगी. इससे उनका भविष्य भी बेहतर हो जायेगा. और इस तरह से उनका विकास अच्छी तरह से हो सकेगा.
  • योजना में दी जाने वाली सहायता :- इस योजना में शामिल होने वाले आवेदकों को योजना के तहत 6 किस्तों में कुल मिलाकर 15,000 रूपये दिए जायेंगे, जिसका उपयोग केवल बेटियों के स्वास्थ्य एवं शिक्षा संबंधित कार्यों में ही किया जायेगा.
  • योजना की शुरुआत :- इस योजना को भलें की फरवरी में घोषित किया गया हो, लेकिन इस योजना की शुरुआत  अप्रैल 2019 के बाद करने का प्रावधान रखा गया हैं.
  • योजना में फण्ड :- इस योजना में लाभार्थियों को जन्म से लेकर उनकी उच्च शिक्षा प्राप्त करने तक दिए जाने वाले पैसों का भुगतान सरकार द्वारा किया जायेगा.

कन्या सुमंगला योजना उत्तरप्रदेश में दी जाने वाली सहायता राशि की किस्तें (Kanya Sumangala Yojana UP Installments)

इस योजना में लाभार्थियों को दी जाने वाली कुल 15,000 रूपये की सहायता राशि निम्न किस्तों के आधार पर लाभार्थियों को प्रदान की जाएगी.  

  • पहली क़िस्त :- उत्तरप्रदेश की कन्या सुमंगला योजना में पहली क़िस्त बेटियों के जन्म के समय दी जाएगी, जिसमें उनके माता – पिता को 2,000 रूपये दिए जायेंगे.
  • दूसरी क़िस्त :- इस योजना में दूसरी क़िस्त एक साल के बाद बेटियों के माता – पिता को उस दौरान दी जाएगी, जब उन्हें आवश्यक टीकाकरण दिया जायेगा. इसमें उन्हें 1,000 रूपये की सहायता राशि दी जाएगी.
  • तीसरी क़िस्त :- इस योजना की तीसरी क़िस्त में 2,000 रूपये बेटी के सफलता पूर्वक पहली कक्षा में प्रवेश करने के बाद प्रदान की जाएगी.
  • चौथी क़िस्त :- इस योजना में दी जाने वाली चौथी क़िस्त 2,000 रूपये की होगी, जोकि बेटियों के 5 वीं कक्षा के पास होने के बाद 6 वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर दी जाएगी.
  • पांचवी क़िस्त :- इस योजना में पांचवीं क़िस्त के लिए 3,000 रूपये निर्धारित किये गए हैं, जोकि लाभार्थी को 9 वीं कक्षा में पहुँचने के बाद दिए जायेंगे.
  • छटवीं एवं आखिरी क़िस्त :- इस योजना में छटवीं क़िस्त आखिरी क़िस्त होगी जोकि 5,000 रूपये की होगी. इस क़िस्त को छात्रा के कॉलेज में दाखिला लेने के बाद 3 साल के ग्रेजुएशन कोर्स या 2 साल का डिप्लोमा कोर्स पूरा कर लेने पर दी जाएगी.

कन्या सुमंगला योजना उत्तरप्रदेश के लिए पात्रता मापदंड (Kanya Sumangala Yojana UP Eligibility Criteria)

  • उत्तरप्रदेश की बेटियां :- इस योजना का लाभ केवल उत्तरप्रदेश की सीमा के अंदर में जन्म लेनी वाली बेटियों के लिए प्रदान किया जाना है. इसके अलावा किसी को भी इसमें शामिल नहीं किया जायेगा.
  • परिवार की आय सीमा :- इस योजना की मुख्य बिन्दुयों में यह बताया गया है कि इस योजना में लाभार्थी के परिवार की सालाना आय 1.8 लाख रूपये से ज्यादा नहीं होनी चाहिए, किन्तु बाद में इस आय सीमा को बढ़ाकर 3 लाख रूपये कर दिया गया है, अब 3 लाख तक के सालना आय वाले परिवार की बेटियों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा.
  • जन्म साल संबंधित योग्यता :- इस योजना में 1 अप्रैल के बाद जन्म लेने वाली बेटियों को सहायता देने के लिए शामिल किया जायेगा.
  • 1 अप्रैल से पहले जन्म लेने वाली बेटियां :- इस योजना में एक यह भी पात्रता निर्धारित की गई है कि यदि किसी बेटी का जन्म 1 अप्रैल 2018 से 31 मार्च 2019 के बीच में हुआ हैं तो उन्हें भी इसमें शामिल किया जायेगा. लेकिन इसमें ऐसी बेटियों को लाभ प्रदान किया जायेगा जिन्हें आवश्यक टीकाकरण समय पर दिया गया हो.
  • कुल लाभार्थी :- इस योजना में एक परिवार की केवल 2 बेटियों को ही लाभ प्रदान किया जायेगा. लेकिन यदि किसी माता ने अपनी जुड़वा बेटियों को जन्म दिया है, और उनकी पहले से ही एक बेटी हैं, तो उन तीनों ही बेटियों को इस योजना के तहत वित्तीय सहायता दी जा सकती है.

कन्या सुमंगला योजना उत्तरप्रदेश में आवश्यक दस्तावेज (Kanya Sumangala Yojana UP Documents Required)

  • आवासीय प्रमाण पत्र :- यह योजना उत्तरप्रदेश की सीमा के अंदर जन्म लेनी वाली बेटियों के लिए है. इसलिए इसमें लाभार्थी को अपना उत्तरप्रदेश का निवासी होने का प्रमाण या आधार कार्ड की कॉपी देनी होगी.
  • आय प्रमाण पत्र :- आय सीमा भी इस योजना में निर्धारित की गई हैं इसलिए इस योजना में आवेदकों को अपने आय प्रमाण पत्र की कॉपी जमा करनी होगी.
  • जन्म प्रमाण पत्र :- चूकि इस योजना में 1 अप्रैल के बाद जन्म लेने वाली बेटियों को शामिल किया जाना है इसलिए आवेदकों को अपनी बेटियों का जन्म प्रमाण पत्र बनवा कर इसकी कॉपी जमा करना भी आवश्यक होगा.
  • राशन कार्ड :- इस योजना में राशन कार्ड की कॉपी भी जमा की जा सकती हैं, जिसमें उनके परिवार की जानकारी सम्मीलित हो कि उनके परिवार में कितने सदस्य हैं.
  • बैंक खाते की जानकारी :- इस योजना में 6 किस्तों में दी जाने वाली राशि कैश के रूप में नहीं बल्कि बैंक खाते में जमा की जाएगी. इसलिए बेटियों के माता – पिता को बेटी के नाम से बैंक में एक खाता खुलवाना होगा, जिसमें यह राशि सरकार द्वारा जमा की जाएगी. और उन्हें आवेदन फॉर्म में इसकी सभी जानकारी देना होगा.
  • एजुकेशनल पेपर :- उत्तरप्रदेश राज्य में उन्हीं बेटियों के बैंक खाते में सहायता राशि ट्रान्सफर की जाएगी, जिन्होंने नियमित रूप से पढाई की हो. इसलिए आवेदकों को कक्षा पहली, 6 वीं, 9 वीं और ग्रेजुएशन पूरा कर अपने परिणाम की मार्कशीट की कॉपी जमा करना आवश्यक है.

कन्या सुमंगला योजना उत्तरप्रदेश में आवेदन कैसे करे ?

फॉर्म पीडीएफ़ डाउनलोड 

इस योजना में अप्लाई करने के लिए फॉर्म पीडीएफ़ को यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं और इसे भरकर योजना का लाभ ले सकते हैं ।

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

इसके लिए ऑनलाइन वेबसाइट के जरिये आप फॉर्म को भरकर उसे सबमिट कर सकते हैं जिसके बाद इस योजना में शामिल हो सकते हैं ।

ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया

ऑफलाइन पंजीयन के लिए खंड विकास कार्यालय में संपर्क करना होगा जहां से फॉर्म लेकर आप भरकर जमा कर सकते हैं । जिसके बाद वहाँ से आपको जानकारी ऑनलाइन पोर्टल में दाल दी जायेगी । और अगर आपके सारे दस्तावेज़ सही हैं तो आपको 6 चरणों में योजना का लाभ मिलेगा

इस योजना के माध्यम से लाभार्थी बेटियों को बेहतर वित्तीय सहायता मिलेगी, जिससे वे अपनी उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित होंगी. जब बेटियां अच्छी शिक्षा प्राप्त कर लेंगी उसके बाद वे अपने जमा किये हुए कौशल और धन का उपयोग सही जगह करने में भी सक्षम होंगी. इसके साथ ही यह योजना साक्षरता दर को भी बढ़ाएगी. इस तरह से यह योजना महिलाओं की प्रगति के साथ ही राज्य और राष्ट्र के विकास के लिए भी लाभकारी होगी.

अन्य पढ़े

  1. दिल्ली जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना 2019
  2. Sukanya Samriddhi Yojana
  3. Kalia Yojana Odisha Name List
  4. Bhagya Laxmi Yojana in Uttar Pradesh
 Posted by at 6:37 pm

Sorry, the comment form is closed at this time.