दिल्ली जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना 2019

दिल्ली जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना 2019 (Delhi Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana 2019) 

दिल्ली की तत्कालीन सरकार ने भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना शुरू की हैं जिससे कि आर्थिक रूप से कमजोर लेकिन योग्य बच्चे प्रतियोगी परीक्षाओं में बेहतर स्थान हासिल कर सके. इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के सभी अभ्यर्थियों के लिए कोचिंग फीस की व्यवस्था करेगी एवं बेटियों (महिला अभ्यर्थी) को सिविल परीक्षा के लिए मुफ्त कोचिंग उपलब्ध करवाएगी.  इस योजना का उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग का समग्र विकास करते हुए उन्हें शिक्षा की मुख्यधारा में लाना हैं, जिससे उन्हें शिक्षा उपरान्त निजी एवं सरकारी क्षेत्र में नौकरी मिल सके. इसमें उन्हें मेडिकल, इंजिनयरिंग, आइएस/आईपीएस जैसी कई तरह की प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में मदद मिलेगी जो कि सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त एनजीओ या निजी संस्थान द्वारा दी जायेगी.

Delhi Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana

योजना का नाम (Name of the scheme) जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना
लांच की गयी (Launched in) दिल्ली में
लांच की गयी (Launched by) अरविन्द केजरीवाल द्वारा
घोषणा की दिनांक (Date of announcement) 2019
लक्षित लाभार्थी (Target beneficiaries) गरीब एसटी, एससी,ओबीसी और दिव्यांग छात्र

 

जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना की मुख्य विशेषताएं (Key features of the Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana)

  1. गरीब मेधावी छात्रों का विकास (Development of poor meritorious students) – आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के बच्चों के लिए कोचिंग सेण्टर की फीस भरना आसान नहीं होता हैं. दिल्ली सरकार ने ऐसे अभ्यर्थियों को सपोर्ट करने के लिए ही योजना शुरू की हैं, जिससे उन छात्रों के सपनों को पूरा किया जा सके.
  2. फ्री कोचिंग की सुविधा (Free coaching facility) – ये योजना गरीब और जरूरतमंद अभ्यर्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए फ्री कोचिंग की सुविधा उपलब्ध करवाएगी.
  3. पिछड़े वर्ग के लिए For backward castes – योजना के ड्राफ्ट में बताया गया हैं कि एसटी, एससी या ओबीसी के मेरिटोरियस छात्र भी एप्लाई कर सकते है, इसके अलावा यही सुविधा विकलांगों एवं अल्पसंख्यकों को भी उपलब्ध रहेगी.
  4. पहले प्रयास में आर्थिक सहायता की जानकारी (Payment distribution details during first attempt) –  यदि लाभार्थी इस योजना का लाभ पहली बार ले रहे हैं तो राज्य सरकार उन्हें 75% पैसे देगी, जबकि अभ्यर्थी 25% फीस का इंतजाम करना होगा. राज्य सरकार प्रत्येक अभ्यर्थी के लिए अधिकतम 40,000 रूपये देगी.
  5. दूसरे प्रयास के दौरान पेमेंट डिस्ट्रीब्युशन (Payment distribution details during second attempt)–  यदि अभ्यर्थी फ्री कोचिंग सुविधा के लिए दूसरी बार एप्लाई कर रहे हैं तो राज्य सरकार कुल फीस का केवल 50 प्रतिशत देगी जबकि बची हुयी राशि अभ्यर्थी को देनी होगी.
  6. एडिशनल आर्थिक सहायता (Additional financial aid) – आर्थिक सहायता के अतिरिक्त लाभार्थी को उसकी आवश्यकताओं के लिए 2500 रूपये भी मिलेंगे.
  7. योजना के अंतर्गत होने वाले एग्जाम (Exams listed under the scheme) – अभ्यर्थी को मेडिकल, आईआईटी या इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम के लिए फ्री कोचिंग क्लास करने की सुविधा मिलेगी. जो लोग यूपीएससी, रेलवे, बैंकिंग, एसएससी और इस तरह किसी अन्य सेक्टर में जाना चाहते हैं तो वो भी योजना में शामिल हो सकते हैं.
  8. प्री और में एग्जाम में असिस्टेंस (Assistance for pre and main exam) 

कुछ प्रतियोगी परीक्षा दो हिस्सों में होती हैं,योजना इसके लिए प्रिलिमिनेरी और मेन दोनों ही एग्जाम के लिए कोचिंग की सुविधा देगी. 

कुल लाभार्थियों की संख्या (Total beneficiary number) – राज्य सरकार ने 5000 अभ्यर्थियों को कोचिंग का लाभ देने का लक्ष्य रखा हैं, जिनमे से 4000 अभ्यर्थी योजना पहले से रजिस्टर्ड हैं.

जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना में शामिल  कोर्स की लिस्ट

योजना के लिए आवश्यक कोर्स लिस्ट में संघ लोक सेवा आयोग के ग्रुप ए, बी और कर्मचारी चयन आयोग, रेलवे नियुक्ति, भर्ती बोर्ड, न्यायिक सेवा, राज्य लोक सेवा योग द्वारा आयोजित ग्रुप-ए और ग्रुप-बी, बैंक, बीमा कम्पनीयां और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (पीएसयू) में अधिकारी स्तर की परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्र के अतिरिक्त आईआईटी, मेडिकल, कैट, क्लेट जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रयास करने वाले छात्र भी शामिल किये गये हैं.

एप्लीकेशन के आवश्यक योग्यता और डॉक्यूमेंट (Eligibility and documents necessary for application)

  1. दिल्ली का निवासी (Residents of Delhi) – ये अनिवार्य हैं कि अभ्यर्थी राज्य का मूल निवासी हो, इसलिए उन्हें दिल्ली सरकार द्वारा जारी राशन कार्ड की कॉपी जमा करवानी होगी.
  2. परमानेंट रेजीडेंशियल डॉक्यूमेंट (Permanent residential documents) – अभ्यर्थी को अपने परमानेंट एड्रेस का डॉक्यूमेंट जमा करवाना होगा
  3. पारिवारिक आय सम्बंधित क्राइटेरिया (Family income related criterion) –

कोई  अभ्यर्थी जिसकी पारिवारिक आय 6 लाख से ज्यादा होती हैं, उन्हें योजना का कोई लाभ नहीं मिलेगा, इसलिए पारिवारिक आय का सर्टिफिकेट भी सबको देना जरुरी हैं. यदि आय 2 लाख रूपये से कम हैं तो सरकार शत-प्रतिशत कोचिंग फीस देगी.

  1. जाति सम्बंधित क्राइटेरिया (Caste related criterion) – ये योजना एससी, एसटी और ओबीसी अभ्यर्थियों के सशक्तिकरण और विकास के लिए बनाई गयी हैं. इच्छुक अभ्यर्थी के पास यदि कास्ट सर्टिफिकेट नहीं होगा तो उन्हें इसका कोई ल्बह नहीं मिलेगा.
  2. आधार कार्ड (Aadhar card) – सभी अभ्यर्थी को प्रोजेक्ट के लाभ के लिए आधार कार्ड की कॉपी जमा करवानी होगी.
  3. अभ्यर्थी को 10 वी और 12वीं पास होना चाहिए  (Must have passed 10th and 12th standard) – यदि अभ्यर्थी ने दसवीं एवं बाहरवी में अच्छे मार्क्स नहीं प्राप्त किये हैं तो वो योजना के लिए एप्लाई नहीं कर सकते हैं. अभ्यर्थी के बैकग्राउंड को देखने के लिये दसवी और बाहरवी की फाइनल मार्क शीट होनी अनिवार्य हैं.
  4. दिल्ली में ही स्कूलिंग हुयी हो Schooling must be done in Delhi – योजना की मुख्य विशेषता ये भी हैं कि इसके अंतर्गत केवल उन अभ्यर्थी को आर्थिक लाभ मिलेगा जिन्होंने दिल्ली से अपनी स्कूलिंग शिक्षा की हो, इसके लिए स्कूल प्रवेश सम्बंधित आवश्यक डॉक्यूमेंट होने अनिवार्य हैं.
  5. केवल दो प्रयास  (Only two attempts) – प्रत्येक रजिस्टर्ड अभ्यर्थी योजना में केवल दो बार एनरोल कर सकता हैं, उन्हें इसके लिए आवश्यक रजिस्ट्रेशन पेपर सबमिट करवाने होंगे. अभ्यर्थी दो बार से ज्यादा योजना का लाभ नही उठा सकता हैं.
  6. कोचिंग एडमिशन होना जरूरी हैं (Coaching admission is a must) – अभ्यर्थी को ऐसे प्रतिष्ठित कोचिंग में प्रवेश भी लेना होगा जो प्रतियोगी परीक्षा को पास करवा सकता हो, रजिस्ट्रेशन के दौरान कोचिंग एडमिशन डॉक्यूमेंट भी सबमिट करवाने होंगे.
  7. कोचिंग सेंटर में रेग्युलर अटेंडेंस (Regular attendance in the coaching centers) – यह बताया गया हैं कि यदि लाभार्थी ने प्रत्येक महीने 15 दिन तक क्लासेज अटेंड नही की तो उन्हें योजना से निष्कासित कर दिया जाएगा, इसलिए रेग्युलर उपस्थिति आवश्यक हैं. 

एप्लीकेशन फॉर्म कैसे प्राप्त करे और कैसे रजिस्ट्रेशन करे? (How to get application form and register)

  1. सभी इच्छुक अभ्यर्थी योजना के आधिकारिक पोर्टल पर एप्लाई करके लाभ ले सकते हैं. ये पोर्टल विशेषकर अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए लांच की गयी हैं.
  2. प्रतिभागी को http://www.delhi.gov.in की साईट खोलकर योजना के नाम पर क्लिक करके एप्लीकेशन फॉर्म प्राप्त करना होगा.
  3. फॉर्म डिजिटल फोर्मेट में उपलब्ध होगा और अभ्यर्थी को बिना किसी त्रुटी के अपनी सारी डिटेल भरनी होगी.
  4. एक बार फॉर्म भर जाए तो उन्हें इसके साथ डॉक्यूमेंट भी लगाने होंगे
  5. सबमिट बटन पर क्लिक करके सेव कर सकते हैं.
  6. राज्य सरकार स्क्रूटनी करके लाभार्थियों की लिस्ट जारी करेगी.

उक्त प्रक्रिया के अतिरिक्त अभ्यर्थी  scstdepartment@gmail.com आईडी पर भी अपने सवाल पूछ सकते हैं.

सभी लाभार्थियों को शैक्षिक सुरक्षा भी मिलेगी. प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों की फीस बहुत ज्यादा हैं इसलिए गरीब और जरूरतमंद परिवार इतने पैसों की व्यवस्था नहीं कर पाते हैं. इस योजना के क्रियान्वयन से दिल्ली सरकार ये सुनिश्चित करेगी कि जरूरतमंद एवं योग्य व्यक्ति बिना कोई आर्थिक चिंता किये आत्म-विकास पर ध्यान केन्द्रित कर सके.

Other Articles

Updated: June 8, 2019 — 1:42 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *